बहादराबाद के ग्रामीणों ने लगाया भूमि को भूमि बचाने के लिए हाईकोर्ट पहुंचे ग्रामीण खुर्दबुर्द करने का आरोप

Jalta Rashtra News

सोमवार से करेंगे धरना शुरू ज्वालापुर विधायक रवि बहादरु ने दिया ग्रामीणों को समर्थन

हरिद्वार। बहादराबाद के ग्रामीणों संजय दाताराम चैहान, जसवंत चैहान, प्रशांत चैहान, नवीन व उमेश चैहान ने प्रैसक्लब में पत्रकारवार्ता के दौरान बहादराबाद स्थित ग्राम पंचायत की भूमि को खुर्दबुर्द करने का आरोप लगाया। संजय दाताराम चैहान व जसवंत चैहान ने आरोप लगाते हुए कहा कि बहादराबाद ग्राम प्रधान व लेखपाल द्वारा ग्राम पंचायत की जिस भूमि पर हराभरा बाग है। उस भूमि को बागहीन दिखाकर भूमाफिया को जमीन बेचने का कुचक्र चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जबकि मौके पर बाग में आम, कटहल, जामुन, आंवले का बाग मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामवासियों के द्वारा जिला प्रशासन को इस संबंध में अवगत भी कराया गया। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। उन्होंने कहा कि पूरे मामले में निष्पक्ष जांच को लेकर ग्रामीणों ने हाईकोर्ट की शरण ली है। उन्होंने कहा कि जमीन को किसी भी रूप में खुर्दबुर्द नहीं होने दिया जाएगा। सोमवार से ग्रामवासी भूमि को बचाने के लिए धरना भी शुरू करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि तहबाजारी के ठेके के नाम पर ग्राम पंचायत सदस्यों के फर्जी हस्तारक्षर दिखाकर भूमि के कब्जे का खेल किया गया है। उन्होंने कहा कि ग्रामवासियों के जनहित की भूमि को खुर्दबुर्द नहीं करने दिया जाएगा। ज्वालापुर विधायक रवि बहादुर एवं पूर्व सभासद अशोक शर्मा ने भी प्रैस क्लब में पहुंचे बहादराबाद ग्रामीणों के भूमि बचाने के अभियान को समर्थन देते हुए कहा कि ग्रामवासियों की भूमि जल्द से जल्द वापस की जाए। जो लोग गलत तरीके से भूमि कब्जाना चाहते हैं। शासन प्रशासन उन्हें चिन्हित कर कार्रवाई करे। विधायक रवि बहादुर ने कहा कि भ्रष्टाचार को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ग्रामवासियों की जनहित की जमीन उनके काम आनी चाहिए।

Next Post

बिजली पानी के संकट से जूझ रही जनता को राहत देने में नाकाम हो रही सरकार-रवि बहादुर

हरिद्वार। जनपद में बिजली कटौती एवं जलापूर्ति बाधित होने को लेकर प्रैसक्लब में पत्रकारवार्ता करते हुए ज्वालापुर विधायक रवि बहादुर ने कहा कि जनपद में केंद्र सरकार की जल जीवन मिशन योजना भी कारगर सिद्ध नहीं हो रही है। लंबे समय से तमाम शहरी व ग्रामीण इलाके पेयजल की किल्लत […]

You May Like

Subscribe US Now