आरके सेवा मिशन ट्रस्ट ने शुरू की फ्री शव वाहन एंबुलेंस सेवा

हरिद्वार। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बीच पूरे देश में एंबुलेंस के किराये ने रिकार्ड कायम कर दिये हैं। मानवता को शर्ममार करने वाले लुटेरे बन चुके एंबुलेंस संचालकों को आईना दिखाने के लिए धर्मनगरी में आरके सेवा मिशन ट्रस्ट द्वारा फ्री शव वाहन एंबुलेंस सेवा शुरू की गई है। अब हरिद्वार में मरीजों के जरूरतमंद परिजन फ्री शव वाहन एंबुलेंस सेवा का लाभ उठा सकते हैं।
शहर में कोरोना काल का फायदा उठाने के लिए एंबुलेंस संचालकों की ओर से मनमाने दाम वसूले जा रहे हैं। विगत शनिवार को एक फ्रीजर एंबुलेंस संचालक ने 36 घंटे शव रखने और दो किमी दूर श्मशान ले जाने के 80 हजार रूपये मांग लिए थे। हालांकि शिकायत मिलने पर एसडीएम गोपाल सिंह चौहान ने एंबुलेंस को सीज कर दिया था। एंबुलेंस संचालकों की हठधर्मिता को देखते हुए और जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने के लिए आरके सेवा मिशन ट्रस्ट की ओर से फ्री शव वाहन एंबुलेंस सेवा शुरू की गई है। संस्था की ओर से फिलहाल दो एंबुलेंस मरीजों को अस्पताल पहुंचाने हेतु संचालित की जा रही है। ट्रस्ट की अध्यक्ष डॉ. सरिता अग्रवाल ने बताया कि वैसे तो एंबुलेंस को लोकल के लिए निःशुल्क चलाया जायेगा लेकिन आवश्यकता पड़ने पर मरीजों के लिए देहरादून और एम्स ऋषिकेश की सुविधा भी फ्री में दी जायेगी। कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत अगर किसी भी पीड़ित को एंबुलेंस की आवश्यकता हो तो वह निःसंकोच इन नंबरों पर सर्म्पक कर सकते हैं डॉ. सरिता अग्रवाल 9719090000, हरविंदर सिंह 8923266598, आदित्य ठकराल 9897182999, गौरव भिंडर 9997028080, अक्षय अग्रवाल 7895729898। एंबुलेंस में सुरक्षा के लिए पीपीई किट, मास्क, सैनिटाइजर आदि भी उपलब्ध है। निसंदेह वर्तमान विकट परिस्थितियों में आरके सेवा मिशन ट्रस्ट की यह पहल प्रेरणादायी है।

Leave a Reply

Next Post

मेडिकल कॉलेज हरिद्वार को मिला है तो इसका विरोध क्यों

हरिद्वार भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री विकास तिवारी ने प्रेस को जारी बयान में कहा कि जगजीतपुर स्थित स्लेजफार्म की जो भूमि सर्वसम्मति से भाजपा पार्षद दल के द्वारा भारत सरकार को दी गई है वह अब भारत सरकार की हो चुकी है यह जमीन भारत सरकार को मेडिकल […]

You May Like

Subscribe US Now