देवप्रयाग ब्लाक के 101 गांवों को गोद लेकर मदद कर रहे हैं थाना अध्यक्ष महिपाल

देवप्रयाग।

खाकी वर्दी को लेकर लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल उठते रहे हैं। लेकिन बदलते सामाजिक परिवेश में खाकी को लेकर अब लोगों की धारणा ही बदल रही है ।निश्चित रूप से पिछले कुछसालों में पुलिस कर्मियों द्वारा समाज के हर क्षेत्र में किए गए कार्यों से समाज में पुलिस की छवि सुधरी है। नागरिक सुरक्षा के साथ ही खाकी वर्दी धारी अब, आपदा, राहत व बचाव कार्य में उल्लेखनीय भूमिका निभा रहे हैं । इसी काम को आगे बढा रहे हैं देवप्रयाग देवप्रयाग ब्लाक के 101 गांवों को गोद लेकर जरूरतमंद ग्रामीणों की मदद कर रहे हैं। इतना ही नहीं थानाध्यक्ष ने अपने स्वयं के संसाधनों से क्षेत्र में एक एंबुलेंस भी किराए पी ली है जो किसी अध्यक्ष महिपाल रावत। देवप्रयाग ब्लाक के 101 गांवों को गोद लेकर जरूरतमंद ग्रामीणों की मदद कर रहे हैं। इतना ही नहीं थानाध्यक्ष ने अपने स्वयं के संसाधनों से क्षेत्र में एक एंबुलेंस भी किराए पी ली है जो किसी भी आपात स्थिति में पीड़ितों को राहत पहुंचाएगी।
उल्लेखनीय है कि पुलिस को लेकर हमेशा ही सवाल उठते रहे हैं ।लेकिन कुछ सालों में पुलिस की कार्यशैली ने लोगों की सोच में बदलाव किया है। निश्चित रूप से पुलिसकर्मियों द्वारा समाज में किए गए कार्यों ने उनकी छवि में काफी सुधार किया है । देवप्रयाग थाना अध्यक्ष महिपाल रावत भी इसी कार्य को अंजाम दे रहे हैं । उनके नेतृत्व में देवप्रयाग ब्लॉक के 101 गांव में राशन सामग्री वितरित की जा रही है ।
देवप्रयाग थाना राज्य का पहला ऐसा थाना है जिसने इस तरह की अभिनव पहल की है। इसके अलावा थानाध्यक्ष ने अपनी स्वयं की आर्थिक संसाधनों से एक मोबाइल बैन भी किराए पर ली है, जो किसी भी आपात स्थिति में पीड़ितों को लाभ पहुंचाएगी ।
कुल मिलाकर कोरोना काल में थाना अध्यक्ष महिपाल रावत द्वारा की गई इस पहल की सराहना की जानी चाहिए।

Leave a Reply

Next Post

विश्व हिंदू संस्था ने जनहित में हरिद्वार बस अड्डे को किया सैनेटाइजर

हरिद्वार। विश्व हिंदू संस्था ने ठाना है कोरोना को हराना है संस्था द्वारा चल रहे जनहित के काम कोविड-19 कोरोना के चलते हरिद्वार की स्थिति को देखते हुए हरिद्वार के बस अड्डे को किया सैनिटाइज आज उत्तराखंड सरकार की कोरोना कोविड-19 कि प्रति गाइडलाइन के चलते लॉकडाउन के दौरान विश्व […]

You May Like

Subscribe US Now