ममता बनर्जी हारीं, बाबुल सुप्रियो- लॉकेट चटर्जी और स्वपनदास गुप्ता समेत ये दिग्गज भी पिछड़े

बंगाल के चुनावी रण में भले ही टीएमसी ने जीत हासिल की है, लेकिन खुद सीएम ममता बनर्जी नंदीग्राम के संग्राम में हार गई हैं। नंदीग्राम में वोटों की गिनती शुरू होने के साथ ही ममता कभी आगे निकल रही थीं तो कभी पिछड़ रही थीं। हालांकि अंत में बीजेपी ने उनकी 1,600 वोटों से हार का दावा किया है। यही नहीं खुद ममता बनर्जी ने भी यह कहते हुए एक तरह से हार स्वीकार की है कि किसी एक सीट से फर्क नहीं पड़ता। ममता बनर्जी के अलावा बीजेपी के भी कई दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा है।

राज्यसभा की सदस्यता छोड़ बीजेपी में शामिल हुए स्वपनदास गुप्ता शुरुआती रुझानों में ही पिछड़ गए थे। वह तारकेश्वर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। यहां उनका सामना टीएमसी के रामेंदु सिंहाराय से था। रामेंदु सिंहाराय को यहां अभी तक की मतगणना में 46 हजार 580 वोट मिले हैं तो वहीं दासगुप्ता को 39 हजार 967 वोट मिले हैं।

चुंचुरा सीट पर बीजेपी उम्मीदवार लॉकेट चटर्जी भी टीएमसी के प्रतिद्वंद्वी से पीछे होती दिख रही हैं। तृणमूल कांग्रेस के असित मजूमदार (तपन) को यहां से अभी तक 55 हजार 40 वोट मिले हैं तो वहीं लॉकेट चटर्जी के हिस्से में 49 हजार 919 वोट मिले हैं।

आसनसोल से बीजेपी सांसद बाबुल सुप्रियो को भी विधानसभा चुनाव में टॉलीगंज सीट से टिकट दिया गया था। हालांकि, इस सीट पर बाबुल सुप्रियो कुछ खास करिश्मा नहीं दिखा सके। यहां टीएमसी के उम्मीदवार अरूप बिसवास के खाते में 65 हजार 638 आ गए हैं तो वहीं बाबुल को महज 31 हजार 886 वोट मिले। यह अंतर इतना बड़ा है कि अब इसे पाट पाना बाबुल सुप्रियो के लिए लगभग असंभव है।

Leave a Reply

Next Post

अस्पताल में तड़पती मां को मुंह से सांस देने लगी बेटियां फिर भी नहीं बचा सकीं जान

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की रात को दो बेटियां अपनी बीमार मां को लेकर मेडिकल कालेज के इमरजेंसी में लेकर पहुंची। सांस लेने में परेशानी होने की वजह से उन्हें तत्काल आक्सीजन सिलिंडर की दरकार थी। परिजनों ने पीड़ित को समय से आक्सीजन उपलब्ध कराने के भरसक प्रयास किया, […]

You May Like

Subscribe US Now