जीजाजी बनकर युवती से  50 हजार ठगे

Jalta Rashtra News

रुद्रप्रयाग।

जिले की एक युवती को तब साइबर ठगी का शिकार होना पड़ा, जब एक दूर के जान पहचान के व्यक्ति ने उसका जीजाजी बनकर उससे 50 हजार ठग दिए। पुलिस की साइबर सैल की तत्परता से युवती के पैसे ठगने से बच गए। साइबर सैल ने अधिक जानकारी जुटाते हुए शीघ्र संबंधित बैंक से सम्पर्क किया और युवती के फोन पे के वॉलेट से धनराशि ट्रासंफर होने से पहले ही दोबारा युवती के खाते में जमा करवा दी। इस तरह एक बड़ी ठगी से युवती बच गई।

जानकारी के मुताबिक जनपद रुद्रप्रयाग निवासी सुमन नाम की युवती अपनी पढ़ाई के सिलसिले में वर्तमान में जनपद पौड़ी में है। 30 जुलाई की सायं एक नए नम्बर से उन्हें फोन आया कि, वह उसका जीजा बोल रहा है। वह उसके खाते में कुछ पैसे भेज रहा है। उसने पूरी विश्वास के साथ बात की ताकि युवती को कोई भी शक न हो। उसे लगे कि वास्तव में वह उसका जीजा बोल रहा है। बातों ही बातों में उसने युवती से ओटीपी ले लिए तथा कुछ ही देर में युवती के खाते से क्रमशः 20 हजार, 20 हजार व 10 हजार कुल 50 हजार रुपये निकाल दिए। खाते से पैसे निकलने से हैरान और परेशान युवती साइबर क्राइम पोर्टल में शिकायत करने पहुंची। मामला रुद्रप्रयाग जिले का होने के कारण शिकायत जनपद रुद्रप्रयाग साइबर सैल को प्राप्त हुई। साइबर सैल में नियुक्त आरक्षी राकेश रावत द्वारा 31 जुलाई को इस सम्बन्ध में इस युवती से वार्ता की गई। साथ ही संबंधित एप यानि फोन पे के गेटवे से आनलाइन पत्राचार किया गया। तब तक पैसे फोन पे के वॉलेट में ट्रान्सफर हुए थे। यहां युवती की किस्तम अच्छी रही कि पैसे फोन पे वॉलेट से कहीं किसी और खाते में ट्रांसफर नहीं हुए थे। इस संबंध में खाते से जुड़ी जानकारी बैंक से ऑनलाइन पत्राचार से प्राप्त की गई। रुद्रप्रयाग पुलिस साइबर सैल की त्वरित कार्यवाही से फोन पे वॉलेट में गए 50 हजार रुपये की धनराशि युवती के खाते में वापस दिला दी गई। पुलिस ने युवती से इतनी अधिक धनराशि उनके खाते में होने को लेकर जानकारी ली तो, उसने बताया कि उनके पिता द्वारा दिन-रात मेहनत कर यह धनराशि कॉलेज की फीस के लिए खाते में डाली गई थी जिसे ठग द्वारा ठग लिया गया था। हालांकि युवती द्वारा यह भी स्वीकार किया गया कि, ठग द्वारा उनकी जिस दीदी व जीजा का सहारा लिया गया था, वह उनके दूर के रिश्ते में एक दीदी हैं, जिनकी आगामी समय में शादी होनी है। साइबर ठग द्वारा इनके बारे में पूरी जानकारी जुटाते हुए ठगने की योजना बनाई गई थी। इधर, रुद्रप्रयाग पुलिस ने जनता को साइबर अपराध के प्रति सजग करते हुए कहा कि फोन पर कोई भी बैंक आदि को लेकर जानकारी मांगे तो उसे बिना बैंक गए किसी भी दशा में न दें। साथ ही पूरी तरह सतर्क रहें।

Leave a Reply

Next Post

50 पेटी शराब के साथ व्यक्ति गिरफ्तार

  ऋषिकेश। कोतवाली पुलिस की ओर से चलाए जा रहे अभियान के तहत बोलेरो पिकअप वाहन में शराब तस्करी करते हुए एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। वाहन से 25 पेटी देसी शराब बरामद की गई है। पुलिस ने वाहन को सीज कर दिया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के […]

Subscribe US Now